एक्सोन मोबिल ने जलवायु परिवर्तन पर गलत सूचना फैलाने के आरोप से इनकार किया

अमेरिकी सदन में सुनवाई के दौरान सीईओ डैरेने वुड्स ने कहा कि एक्सोन मोबिल जलवायु परिवर्तन की वास्तविकताओं और जोखिम से पूरी तरह से अवगत है और कंपनी उन जोखिमों से निपटने के लिये संसाधन का बड़ा हिस्सा खर्च कर रही है। जिन कंपनियों के प्रमुख सदन की निगरानी समित के समक्ष पेश हुए, उनमें एक्सोन मोबिल, चेवरॉन, बीपी अमेरिका और शेल शामिल हैं।

वाशिंगटन| बहुराष्ट्रीय तेल एवं गैस कंपनी एक्सोन मोबिल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी कंपनी जलवायु परिवर्तन के सदर्भ में कोई गलत जानकारी नहीं फैलाती।

वह और अन्य तेल कंपनियों के प्रमुख कांग्रेस (अमेरिकी संसद) के इस आरोप का जवाब दे रहे थे कि उद्योग ने क्षेत्र की गतिविधियों के खतरों से जुड़े साक्ष्यों को छिपाया है।
सदन में सुनवाई के दौरान सीईओ डैरेने वुड्स ने कहा कि एक्सोन मोबिल जलवायु परिवर्तन की वास्तविकताओं और जोखिम से पूरी तरह से अवगत है और कंपनी उन जोखिमों से निपटने के लिये संसाधन का बड़ा हिस्सा खर्च कर रही है।

इसे भी पढ़ें: जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने का यही वक्त है, वरना देर हो जाएगी : पर्यावरण मंत्री

वुड्स चार प्रमुख तेल कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों में से थे, जिन्होंने बृहस्पतिवार को अमेरिकी संसद के समक्ष अपनी बातें रखी।
कांग्रेस के डेमोक्रेट्स ने ‘ग्लोबल वार्मिंग’ में तेल एवं गैस क्षेत्र की भूमिका की जांच की है।

जांच में उन्होंने पाया कि उद्योग के पास जीवाश्म ईंधन के जलवायु परिवर्तन पर पड़ने वाले खतरों के बारे में वैज्ञानिक साक्ष्य थे, लेकिन उन्होंने उसे कभी स्वीकार नहीं किया।
जिन कंपनियों के प्रमुख सदन की निगरानी समित के समक्ष पेश हुए, उनमें एक्सोन मोबिल, चेवरॉन, बीपी अमेरिका और शेल शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: पूर्व एवं पश्चिम के चक्रवाती तूफानों के संगम से देश के विभिन्न हिस्सों में हो रही है भारी बारिश

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source link

Leave a Comment