एमएसएमसी के लेखा परीक्षण परामर्श पत्र पर टिप्पणियां देने की तारीख बढ़ी

वित्तीय रिपोर्टिंग पर नजर रखने वाली संस्था एनएफआरए ने गत 29 सितंबर को एमएसएमसी के ऑडिट के बारे में परामर्श पत्र जारी किया था। पहले इस पर विचार देने के लिए 10 नवंबर तक का समय दिया गया था।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (एनएफआरए) ने सूक्ष्म, लघु एवं मझोली कंपनियों (एमएसएमसी) के सांविधिक लेखा परीक्षण (ऑडिट) और उससे जुड़े मानकों के बारे में जारी परामर्श पत्र पर प्रतिक्रिया देने की समयसीमा 30 नवंबर तक बढ़ा दी है।
वित्तीय रिपोर्टिंग पर नजर रखने वाली संस्था एनएफआरए ने गत 29 सितंबर को एमएसएमसी के ऑडिट के बारे में परामर्श पत्र जारी किया था। पहले इस पर विचार देने के लिए 10 नवंबर तक का समय दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: मेरठ में भी वांटेड है आर्यन खान ड्रग्स केस में सेल्फी के बाद चर्चित हुआ करण गोसावी

प्राधिकरण ने मंगलवार को जारी विज्ञप्ति में बताया कि परामर्श पत्र पर राय देने की समयसीमा अब महीने के अंत तक बढ़ा दी गई है।
एनएफआरए ने अपने शुरुआती विश्लेषण में यह पाया है कि बड़ी संख्या में एमएसएमसी ऑडिटरों को कहीं कम शुल्क देती हैं। प्राधिकरण के मुताबिक, लेखा परीक्षण को सही ढंग से अंजाम देने पर देय शुल्क कहीं ज्यादा होता।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source link

Leave a Comment