दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचने से Air purifier की बिक्री बढ़ी

प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ एयर प्यूरीफायर की बिक्री भी बढ़ गई है।इस सीजन में एयर प्यूरीफायर कंपनियां नए मॉडल पेश करने के साथ न केवल खराब वायु गुणवत्ता से, बल्कि सार्स सीओवी-2 वायरस के भी खतरे से भी सुरक्षा देने का दावा कर रही हैं।

नयी दिल्ली।दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के बीच रूम एयर प्यूरीफायर (हवा शुद्ध करने वाले उपकरण) की बिक्री में जोरदार उछाल आया है।
पिछले वर्ष की तरह इस साल भी दिवाली के बाद एयर प्यूरीफायर की बिक्री बढ़ रही है। इस बीच, देश में एयर प्यूरीफायर का कारोबार 500 करोड़ रुपये का हो गया है। इस उत्पाद की कुल बिक्री में दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत का तीन-चौथाई का योगदान है।
इस सीजन में एयर प्यूरीफायर कंपनियां नए मॉडल पेश करने के साथ न केवल खराब वायु गुणवत्ता से, बल्कि सार्स सीओवी-2 वायरस के भी खतरे से भी सुरक्षा देने का दावा कर रही हैं।

इसे भी पढ़ें: खाद्य मंत्रालय आजादी का अमृत महोत्सव के तहत कल से कई कार्यक्रमों का करेगा आयोजन

यूरेका फोर्ब्स के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी मार्जिन आर श्रॉफ ने पीटीआई-को बताया, हमें विश्वास है कि हमारे उत्पादों की नयी श्रृंखला 2021 के दौरान एक महत्वपूर्ण बाजार हिस्सेदारी हासिल करेगी। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि इनसे देशभर के हजारों परिवारों को बहुत जरूरी राहत मिल पाएगी।
उन्होंने आंकड़े दिए बिना कहा कि इस श्रेणी में कंपनी की बिक्री पिछले साल की तुलना में 30 प्रतिशत तक बढ़ गई है।
केंट आरओ के संस्थापक एवं चेयरमैन महेश गुप्ता ने कहा कि कंपनी ने पिछले साल की तुलना में इस सीजन में पहले ही बिक्री में बढ़ोतरी देखी है और उम्मीद है कि यह गति सर्दियों के अंत तक जारी रहेगी।
उन्होंने कहा कि पहले केंट एयर प्यूरीफायर की 70 फीसदी बिक्री दिल्ली एनसीआर में होती थी, लेकिन इस साल इनकी मांग अन्य शहरों से भी बढ़ी है।
दिल्ली में वायु प्रदूषण गंभीर स्तर के करीब है। इसी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने शनिवार को स्कूलों को एक सप्ताह के लिए बंद करने सहित कई आपातकालीन उपायों की घोषणा की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source link

Leave a Comment