Drugs Case: जानें कौन हैं NCB अधिकारी संजय सिंह, जो समीर वानखेड़े की जगह करेंगे छह मामलों की जांच

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, मुंबई
Published by: संजीव कुमार झा
Updated Sat, 06 Nov 2021 07:43 AM IST

सार

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को आर्यन खान केस से हटाने के बाद अब वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संजय सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की गई है, जो आर्यन खान केस के साथ-साथ छह अन्य मामलों की भी जांच करेंगे।

ख़बर सुनें

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को आर्यन खान केस से हटाने के बाद अब वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संजय सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की गई है, जो आर्यन खान केस समेत छह  मामलों की भी जांच करेंगे। वे शनिवार को दिल्ली से मुंबई के लिए रवाना होंगे। आइए जानते हैं कौन हैं संजय सिंह जिन्हें इतनी बड़ी जिम्मेदारी दी गई है…

जानें कौन हैं संजय सिंह? 
संजय सिंह 1996 बैच के ओडिशा कैडर के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने अपने अब तक के कार्यकाल के दौरान कई अहम पदों की जिम्मेदारी संभाली है। उन्हें सबसे पहले ओडिशा पुलिस में बतौर अपर आयुक्त के रूप में नियुक्त किया गया था। इसके बाद उन्हें ओडिशा पुलिस में ही आईजी की जिम्मेदारी दी गई थी। उनके शानदार काम को देखते हुए सरकार ने उन्हें सीबीआई में उपमहानिरीक्षक के रूप में नियुक्त कर दिया। अब वर्तमान में संजय सिंह एनसीबी के उपमहानिदेशक (ऑपरेशन) के पद पर कार्यरत हैं।

ड्रग्स मामले पर रहती है पैनी नजर
रिपोर्ट के अनुसार संजय सिंह भी ड्रग्स के संबंधित कई बड़े मामले की जांच कर चुके हैं। उन्होंने ओडिशा कमिश्नरेट में ड्रग-विरोधी टास्क फोर्स का भी नेतृत्व किया है। संजय सिंह, समीर वानखेड़े की जगह आर्यन खान केस और नवाब मलिक के दामाद वाले मामले की भी जांच करेंगे। इसके अतिरिक्त कुछ और मामले हैं जिनकी जिम्मेदारी संजय सिंह को दी गई है।

केस से हटाए जाने पर वानखेड़े ने दी सफाई
वहीं, वानखेड़े ने अपनी सफाई में समाचार एजेंसी एएनआई को कहा है कि आर्यन खान केस की जांच से मुझे हटाया नहीं गया है। कोर्ट में मैंने खुद याचिका देकर इसकी जांच केंद्रीय एजेंसी से कराने की मांग की थी। इसलिए आर्यन और समीर खान केस की जांच अब दिल्ली एनसीबी की एसआईटी करेगी। यह दिल्ली और मुंबई की एनसीबी टीमों के बीच एक समन्वय है।

विस्तार

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को आर्यन खान केस से हटाने के बाद अब वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संजय सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की गई है, जो आर्यन खान केस समेत छह  मामलों की भी जांच करेंगे। वे शनिवार को दिल्ली से मुंबई के लिए रवाना होंगे। आइए जानते हैं कौन हैं संजय सिंह जिन्हें इतनी बड़ी जिम्मेदारी दी गई है…

जानें कौन हैं संजय सिंह? 

संजय सिंह 1996 बैच के ओडिशा कैडर के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने अपने अब तक के कार्यकाल के दौरान कई अहम पदों की जिम्मेदारी संभाली है। उन्हें सबसे पहले ओडिशा पुलिस में बतौर अपर आयुक्त के रूप में नियुक्त किया गया था। इसके बाद उन्हें ओडिशा पुलिस में ही आईजी की जिम्मेदारी दी गई थी। उनके शानदार काम को देखते हुए सरकार ने उन्हें सीबीआई में उपमहानिरीक्षक के रूप में नियुक्त कर दिया। अब वर्तमान में संजय सिंह एनसीबी के उपमहानिदेशक (ऑपरेशन) के पद पर कार्यरत हैं।

ड्रग्स मामले पर रहती है पैनी नजर

रिपोर्ट के अनुसार संजय सिंह भी ड्रग्स के संबंधित कई बड़े मामले की जांच कर चुके हैं। उन्होंने ओडिशा कमिश्नरेट में ड्रग-विरोधी टास्क फोर्स का भी नेतृत्व किया है। संजय सिंह, समीर वानखेड़े की जगह आर्यन खान केस और नवाब मलिक के दामाद वाले मामले की भी जांच करेंगे। इसके अतिरिक्त कुछ और मामले हैं जिनकी जिम्मेदारी संजय सिंह को दी गई है।

केस से हटाए जाने पर वानखेड़े ने दी सफाई

वहीं, वानखेड़े ने अपनी सफाई में समाचार एजेंसी एएनआई को कहा है कि आर्यन खान केस की जांच से मुझे हटाया नहीं गया है। कोर्ट में मैंने खुद याचिका देकर इसकी जांच केंद्रीय एजेंसी से कराने की मांग की थी। इसलिए आर्यन और समीर खान केस की जांच अब दिल्ली एनसीबी की एसआईटी करेगी। यह दिल्ली और मुंबई की एनसीबी टीमों के बीच एक समन्वय है।

Source link

Leave a Comment