IND vs AFG T20 WC 2021 | अफगानिस्तान को हराने के बाद, वर्ल्ड कप में बने रहने के लिए ‘विराट’सेना को करनी होंगी ये 3 बातें | Navabharat (नवभारत)

-विनय कुमार

भारतीय क्रिकेट टीम आज अफगानिस्तान के खिलाफ (India vs Afghanistan T20 World Cup, 2021) के खिलाफ खेलेगी। ये मैच टीम इंडिया के लिए करो या मरो वाला मुकाबला है। गौर करने वाली बात ये भी है कि अगर ‘विराट’सेना आज के मैच के साथ अगले दो मुकाबले, यानी तीनों मैच जीत भी जाए, तो भी सेमीफाइनल में पहुंचने की गारंटी नहीं है। लेकिन, भारत को सेमीफाइनल की रेस में खुद को जीवित रखने के लिए आज अफगानिस्तान को हराना ही होगा, वो भी बड़े अंतर से।

इतिहास गवाह है कि, ऐसा किसी भी वर्ल्ड कप के टूर्नामेंट में नहीं हुआ कि टीम इंडिया T20 वर्ल्ड कप में 3 मुकाबले खेलकर टूर्नामेंट से बाहर हो जाए। लेकिन, अगर आज भारत हार जाता है, तो टीम इस एडिशन के सेमीफाइनल की रेस से बाहर निकल जाएगा। गौरतलब है कि, ICC T20 World Cup, 2021 में भारत अब तक खेले 2 मैचों में बुरी तरह हार चुका है।

पहला मैच 24 अक्टूबर को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया था, जिसमें पाकिस्तान ने (India vs Pakistan 2021) विराट सेना एंड कंपनी को 10 विकेट से हराया था। उसके बाद 31 अक्टूबर को उसी मैदान पर न्यूजीलैंड ने (India vs New Zealand T20 World Cup, 2021) 8 विकेट से धूल चटाई। और आज इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भारत का तीसरा मुकाबला है।

आइए अब उन तीन प्वाइंट्स की बात करें, जो भारत को सेमीफाइनल तक के अभियान को जारी रखने और अफगानिस्तान को आज के मुकाबले में शिकस्त देने के लिए अहम होंगी-

प्लेइंग इलेवन सेलेक्शन सही करना होगा

भारत ने अपनी 15 सदस्यों की टीम में 5 स्पिनर और 3 तेज गेंदबाज रखे हैं। यह स्पष्ट है भारत वर्ल्ड कप के शुरू होने से पहले विपक्षी टीम को स्पिन के चक्रव्यूह में फंसाने की सोच लेकर मैदान में उतरने की योजना में था। लेकिन, शुरुआत के दो मैचों में भारत के स्पिन अटैक में कोई धार नजर नहीं आई। रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और राहुल चाहर (Rahul Chahar) को बाहर बैठाया गया।

तेज गेंदबाजी में भी कोई खास ऑप्शन नहीं दिखा।  जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ही तेज गेंदबाजी के मोर्चे पर कुछ हद तक असरदार नजर आए। ऐसे में अगर आज भारत 150 रन भी बनाता है, तो डिफेंड करना कठिन होगा। इसलिए भारत अगर पहले बल्लेबाजी करता है, तो उसे 180 से ज्यादा रन बनाने होंगे।

यह भी पढ़ें

बल्लेबाज़ों को बड़े टारगेट सेट करने के संकल्प के साथ खेलना होगा

भारत की प्लेइंग इलेवन में मजबूत बैटिंग लाइन-अप है। ऐसा लगता है मानो इस वर्ल्ड कप में टीम पहले ही एक टोटल स्कोर लेकर खेल रही है। बल्लेबाज शॉट खेलने से पहले नजरें जमाने में दिमाग लगा रहे हैं, जिससे भारत के प्रदर्शन का नुकसान ही हुआ है। रोहित शर्मा, (Rohit Sharma), केएल राहुल (KL Rahul) और विराट कोहली (Virat Kohli) की यह सोच टीम के अन्य बल्लेबाजों पर प्रेशर डाल रही है।

गौरतलब है कि UAE के मैदानों की पिच ऐसी नहीं कि खिलाड़ी जब चाहें स्ट्रोक प्ले कर पाए। खासकर, पहले बल्लेबाजी करते हुए काफी परेशानी होती है, लेकिन बल्लेबाजों को कोशिश तो करनी ही पड़ेगी।

सिर्फ तय प्लान नहीं, मैच के हिसाब से भी खेलना होगा

इस ताज़ा वर्ल्ड कप, ICC T20 World Cup, 2021 में पाकिस्तान और इंग्लैंड की धुरंधर टीमों ने अपने मैचों में अपने खेल से दिखा दिया कि उनके पास मैदान में उतरने वाली विपक्षी टीम को लेकर बेहतर प्लान मौजूद था। लेकिन, प्लान के साथ-साथ पाकिस्तान और न्यूजीलैंड की टीम मैच की परिस्थितियों के अनुसार चल भी रहे थे। ये बात भारतीय टीम में नजर नहीं आई। टीम इंडिया अपने तय प्लान के एक पैटर्न से चिपकी रही। पाकिस्तान और न्यजीलैंड के खिलाफ खेले गए मैच में हमने साफ देखा कि इन दोनों देश के बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों ने ज्यादा कहर ढाया।

जब टीम इंडिया ने अपने दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 110 रन ही  बनाए, तो गेंदबाजी में वरुण चक्रवर्ती (Varun Chakravarthy) से बोलिंग की शुरुआत कराई। यह एक अच्छा प्लान था। लेकिन, कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Captain Indian Cricket Team) द्वारा जैसी फील्डिंग सेट की गई थी, उससे यह स्पष्ट हो गया था कि, भारत इस गेम में नुकसान ही खेलेगी। ऐसे में गेंदबाजी और फील्डिंग को लेकर सही फैसले आज लेने होंगे।



Source link

Leave a Comment